अयादि सन्धि

अयादि सन्धि

अयादि सन्धि:- यदि ए, ऐ, ओ, औ, स्वरों का मेल दूसरे स्वरों से हो तो ए, का अय’ ऐ, का आय’, ओ , का अव’, तथा औ’, का आव’, के रूप में परिवर्तन हो जाता है; जैसे–
ए + अ = अय—— ने + अन = नयन
शे + अन = शयन
ऐ + अ = आय—– नै + अक = नायक
गै + अन = गायन
ऐ + इ = आयि—– नै + इका = नायिका
गै + इका = गायिका
ओ + अ = अव—— पो + अन = पवन
श्रो + अन = श्रवण
ओ + इ = अवि——- पो + इत्र = पवित्र
गो + इनि = गविनि
ओ + ई = अवी—— गो + ईश = गवीश
औ + अ = आव—– पौ + अन = पावन
पौ + अक = पावक
औ + इ = आवि—— नौ + इक = नाविक
भौ + इनि = भाविनी
औ + उ = आवु—— भौ + उक = भावुक