तत्पुरुष समास

तत्पुरुष समास – जिस समास में पद चिन्हों का लोप रहता हें एवं उत्तर पद की प्रधानता रहती हें वहां तत्पुरुष समास होता हें|

दाहरण- देवपुत्र = देव का पुत्र

राजकन्या- राजा की कन्या

कारक विभक्तियों के अनुसार तत्पुरुष समास सात प्रकार के होते हें|

  1. कर्म तत्पुरुष समास – ग्रहागत = ग्रह को आगत, स्वर्गप्राप्त = स्वर्ग को प्राप्त
  2. करण तत्पुरुष समास – मनचाह = मन से चाह, जन्मरोगी = जन्म से रोगी
  3. सम्प्रदान तत्पुरुष समास – बलिवेदी = बलि के लिए दान, मार्गव्यय = मार्ग के लिए व्यय
  4. अपादान तत्पुरुष समास  – पथभ्रष्ट =  पथ से भ्रष्ट, बंधनमुक्त = बंधन से मुक्त
  5. सम्बंध तत्पुरुष समास –  राजपुत्र = राज का पुत्र, बैलगाड़ी = बैल की गाड़ी
  6. अधिकरण तत्पुरुष समास – सिरदर्द = सर में दर्द, आपबीती = स्वयं पर बीती, कार्यकुशल = कार्य में कुशल, दानवीर = दान में वीर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *