द्वन्द समास

                          समास

समास का शाब्दिक अर्थ हें संक्षिप्त या संक्षेप  

जेसे – राजपुत्र , देशभक्ति

परिभाषा – दो या दो से अधिक शब्दों से मिलकर बे एक नये साथर्क शब्दों को समास कहते हें|

समास के 6 प्रकार के होते हें –

याद करने की ट्रिक – अब तक दादा

(अ)- अव्ययीभाव समास

(ब)- बहुब्रीहि समास

(त)- तत्पुरुष समास

(क)- कर्मधारय समास

(द)- द्वन्द समास

(द)- द्विगु समास

द्वन्द समास– जिस समास के दोनों पद प्रधान हो और दोनों के बीच में योजक चिन्ह ‘और , या’ आये तो वह द्वन्द समास कहलायेगा|

उदाहरण– * दिन-रात, माता-पिता, आगे-पीछे, देश-विदेश, धर्म-अधर्म, सुख-दुःख, रुपया-पैसा, घास-पूस, नर-नारी,  दाल-भात, खट्टा-मीठा, दाल-रोटी, आज-कल, चला-चल आदि शब्द

(दिन-रात – दिन और रात)= द्वन्द समास

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *