नागरिकता-Citizenship

भाग – 2 नागरिकता

अनुच्छेद – 5 – संविधान के प्रारम्भ पर नागरिकता |

Article 5 – Citizenship at the commencement of the constitution.

अनुच्छेद – 6 पाकिस्तान से भारत को प्रव्रजन करने वाले कुछ व्यक्तियों के नागरिकता के अधिकार||

Article 6 – Rights of citizenship of some persons migrating from Pakistan to India.

अनुच्छेद 7 – पाकिस्तान को प्रव्रजन करने वाले कुछ व्यक्तियों के नागरिकता के लिए अधिकार|

Article 7 – Rights of citizenship of certain persons who migrate to Pakistan.

अनुच्छेद 8– भारत के बाहर रहने वाले भारतीय उद्भव के कुछ व्यक्तियों के नागरिकता के अधिकार|

Article 8 – Rights of citizenship of certain persons of Indian origin residing outside India.

अनुच्छेद 9 – विदेश राज्य की नागरिकता स्वेच्छा से अर्जित करने वाले व्यक्तियों का नागरिक न होना |

Article 9 – Persons voluntarily acquiring citizenship of a foreign state not to be citizens.

अनुच्छेद 10 – नागरिकों के अधिकार का बना रहना |

Article 10 – Maintaining the rights of citizens.

अनुच्छेद 11– संसद द्वारा नागरिकता के अधिकार का विधि द्वारा विनियमन किया जाना |

Article 11 – Regulation of the right of citizenship by Parliament by law.

  भारतीय नागरिकों को प्राप्त मूल अधिकार      (Fundamental Rights obtained by an Indian citizen)     विदेशियों को प्राप्त मूल अधिकार   (Foreigners get fundamental rights)       ( भारतीय नागरिकों भी )
अनुच्छेद – 15, 16, 19, 29, 30, केवल नागरिकों को प्राप्त मूल अधिकार हें|            

अनुच्छेद 15- धर्म , मूलवंश, जाति, लिंग या जन्मस्थान के आधार पर विभेद का निषेध |                      

अनुच्छेद 16- लोक नियोजन में अवसर की समानता |        


अनुच्छेद 19 – वाक् स्वतंत्रता अदि विषयक कुछ अधिकारों का संरक्षण |          

  अनुच्छेद 29 – अल्पसंख्यक वर्गो के हितों का संरक्षण |      


अनुच्छेद 30- शिक्षण संस्थाओ की स्थापना व् प्रशासन के संदर्भ में अल्पसंख्यक वर्गो का अधिकार                            
  अनुच्छेद 14, 20, 21, 21A, 22, 23, 24, 25, 25, 27, 28 भारतीय नागरिकों के साथ – साथ विदेशियों को भी प्राप्त मूल अधिकार हें|  

अनुच्छेद 14 – विधि के समक्ष समता  

अनुच्छेद 20 – अपराधों के लिए दोषसिद्ध के सम्बंध में संरक्षण |  

अनुच्छेद 21– प्राण एवं दैहिक स्वतंत्रता का अधिकार |  

अनुच्छेद 21 A– शिक्षा का अधिकार ( 6- 14 वर्ष की आयु तक के सभी बच्चो को निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा )  

अनुच्छेद 22- कुछ मामलों में गिरफ्तारी और निवारक निरोध के खिलाफ संरक्ष्ण |    

अनुच्छेद 24- जोखिमपूर्ण कार्यो में बाल श्रम आदि का निषेध |  

अनुच्छेद 25- 28 धर्म की स्वतंत्रता का अधिकार                                                                                                

  क़ानूनी आधार पर व्यक्तियों के लिए विभिन्न वर्ग     (Different Class of Individuals on Legal Basis)  
  नागरिक (Citizen)  भारत के पूर्ण सदस्य , राज्य तथा संविधान के प्रति पूर्ण निष्ठा रखने वाले , मुलभुत अधिकार एवं कर्तव्यों के प्राप्तकर्ता    
अन्यदेशीय  व्यक्ति (Alien/ Foreigner)     इन्हें वे सभी अधिकार प्राप्त नही , जो की भारत के नागरिक को प्राप्त होते हें | इन्हें अनुच्छेद 21 के तहत जीवन का अधिकार प्राप्त हें, लेकिन अनुच्छेद 19 के तहत वाक् स्वतंत्रता का अधिकार प्राप्त नही | ये शत्रु या मित्र अन्यदेशीय हो सकता हें    
राज्यविहीन व्यक्ति (Stateless persons)     इस श्रेणी में अवैध प्रवासियों को शामिल किया जाता हें, जिन्हें नागरिकता सम्बन्धी दस्तावेज़ न होने के कारण अवैध घोषित क्र दिया जाता हें|    
शरणार्थी (Refugee) अपने मूल देश से वर्ग , नस्ल , भाषा , राष्ट्रीयता सामाजिक उत्पीड़न के आधार पर विभेद व् भय के कारण भारत में शरण लेने वाले व्यक्ति |

नाग्तिकता का अर्जन ( Acquisition Of Citizenship ) 5 शर्ते ( नागरिकता प्राप्ति के आधार )
              जन्म से ( By Birth)     26 जनवरी 1950  को या उसके बाद , किन्तु 1 जुलाई 1987  से पहले भारत में जन्मे सभी व्यक्ति भारत के नागरिक होने एवं 1 जुलाई 1987 को या उसके बाद लेकिन ( संशोधन) अधिनियम, 2003  के लागु होने के पहले जन्मा बच्चा भारतीय नागरिक होगा |      

यदि उस दोरान उसके माता – पिता में से कोई एक भारतीय नागरिक हों |      

नागरिक संशोधन अधिनियम 2003 के लागु होने के बाद वह बच्चा जिसके जन्म के समय माता- पिता दोनों भारतीय हो अथवा जन्म के समय दोनों में से कोई एक भारतीय नागरिक हो तथा दूसरा अवैध प्रवासी न हो , भारतीय नागरिक माना जाएगा |
वंशनुगत                                  (By descent)   26 जनवरी 1950 से 10 दिसम्बर 1992 के बीच देश के बाहर जन्मे व्यक्ति के जन्म के समय उसके पिता भारतीय नागरिक हो|    

10 जनवरी 1992 को या उसके बाद देश के बाहर जन्मे व्यक्ति के जन्म के समय माता – पिता में से कोई एक भारत का नागरिक हों|    
पंजीकरण द्वारा (By Registration)   भारतीय मूल का व्यक्ति , जो नागरिकता आवेदन से 7 वर्ष तक भारत में रहा हो |  

भारतीय नागरिक से विवाहित व्यक्ति , जो नागरिकता आवेदन देने से पूर्व 7 वर्ष तक भारत में रहा हों|

  भारत के नागरिकों के नाबालिक बच्चे |
देशीयकरण द्वारा (By Naturalisation)   सम्बन्धित देश एक निश्चित अवधि तक निवास करना |    

किसी देश का नागरिक न हो , जहा भारतीयों को देशीयकरण द्वारा नागरिकता ना मिलती हें|

  अन्य देश की नागरिकता को त्याग कर भारत की नागरिकता ग्रहण करे |    

आठवी अनुसूची में वर्णित भाषाओ में से किसी एक का अच्छा ज्ञान हों अच्छे चरित्र वाला या वाली हों|      

एक विशेष उपबंधके तहत यह छुट दी गई हें कि यदि कोई व्यक्ति विज्ञानं , दर्शन , कला साहित्य, विश्व शांति या मानव विकास के क्षेत्र में विशेष कार्य कर चूका हो तो उसे उपर्युक्त शर्तो को पूर्ण किए बगैर भी नागरिकता देशीयकरण के द्वारा दी जा सकती हें|

इस प्रकार से नागरिक बने प्रत्येक व्यक्ति को भारत के सम्विधन के प्रति निष्ठा की शपथ लेनी होंगी  |
क्षेत्र सम्मीलित होने पर (In corporation of
Territory)
  नए क्षेत्र को भारतीय क्षेत्र में सम्मीलित करने पर |