प्रत्यय की परिभाषा-Definition of suffix

प्रत्यय की परिभाषा= प्रत्यय वे शब्दांश होते हैं जो किसी शब्द के बाद में जुड़कर उसके अर्थ में परिवर्तन कर देते हैं

जैसे= मीठा शब्द में आई प्रत्यय जोड़कर मिठाई शब्द बनाया गया है

प्रत्यय के प्रकार अथवा भेद

प्रत्यय दो प्रकार के होते हैं – 1. क्रत प्रत्यय 2. तद्धित प्रत्यय

1. क्रत प्रत्यय = क्रियाओ में धातु रूप के बाद लगने वाले शब्दांश को क्रत प्रत्यय कहा जाता है जैसे – पढ़ धातु में आई शब्दांश( प्रत्यय) जोड़कर पढ़ाई शब्द बनताहैं। इन प्रत्ययों को जोड़कर संज्ञा, विशेषण तथा अव्यय शब्दों की रचना को भी जा सकती है।

2. तद्धित प्रत्यय – धातु के अतिरिक्त सज्ञा सर्वनाम, विशेषण आदि शब्दों में जुड़कर नवीन शब्दों की रचना करने वाले शब्दांशों को तद्धित प्रत्यय कहा जाता है जैसे – भला शब्द में आई शब्दांश ( प्रत्यय) जोड़कर भलाई शब्द बनता हैं ।

यहाँ पर हिंदी के कुछ प्रत्यय ओर उनसे बने शब्द दिए हैं

आई – भला से भलाई, भरना से भराई, पढ़ना से पढ़ाई ।

वट – बनावट, सजावट, लिखावट।

हट – घबराहट, बुलाहट, अकुलाहट

ता – महानता, मधुरता, कविता, सुंदरता, दयालुता, गुरुता

पन- बचपन, बालकपन, गवारपन, भोलापन ,पागलपन

वा – बुलावा, पहनावा, दिखावा