भारत का उप-राष्ट्रपति-Vice President of India

संविधान के अनुच्छेद 63 के अनुसार भारत में एक उपराष्ट्रपति के पद की व्यवस्था भी की गई है। यह व्यवस्था इसलिए कि गई है कि अनेक ऐसे अवसर आ सकते हैं, जबकि राश7कूछ समय के लिए अपना कार्यभार न सँभाल पाए । अतः ऐसी स्थिति में राष्ट्रपति का कार्यभार संभालने हेतु एक उपराष्ट्रपति के पद की व्यवस्था की गई है।
अर्हताएं:
कोई व्यक्ति उपराष्ट्रपति निर्वाचित होने के योग्य तभी होगा जब वह
1. भारत का नागरिक हो
2. वह 35 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुका हो
3. वह राज्यसभा के सदस्य बनने के लिएयोग्य हो
4. निर्वाचन के समय वह किसी लाभ के पद पर न हो।
● उपराष्ट्रपति को अपना पद ग्रहण करने से पूर्व राष्ट्रपति अथवा उसके द्वारा नियुक्त किसी व्यक्ति के समक्ष शपथ लेनी पड़ती है।
● उपराष्ट्रपति का वेतन 1,25,000 ₹ प्रति माह हैं।
● उपराष्ट्रपति की पदावधि उसके पद ग्रहण से लेकर 5 वर्ष तक होती है।
● उपराष्ट्रपति अपना त्याग पत्र राष्ट्रपति को देता है।


● राष्ट्रपति का पद रिक्त होने पर उपराष्ट्रपति कार्य करता है तथा वह अधिकतम 6 महीने तक कार्य कर सकता है।
● उपराष्ट्रपति का निर्वाचन संसद के दोनों सदनों के सदस्यों से मिलकर बनाने वाले निर्वाचक गण के सदस्यों द्वारा अनुपातिक प्रतिनिधित्व पद्वति के अनुसार एकल संक्रमणीय मत पद्वति के द्वारा होता है।
● उपराष्ट्रपति को उसके पद राज्य परिषद अथवा राज्य सभा के प्रस्ताव के द्वारा हटाया जा सकेगा।
उपराष्ट्रपति राज्यसभा का पदेन सभापति होता है।