रामगोपालाचारी फार्मूला

रामगोपालाचारी फार्मूला 1944

प्रावधान

  1. मुस्लिम लिंग को राष्ट्रीय आन्दोलन में कांग्रेस का समर्थन करना चाहिए|
  2. मुस्लिम बहुमूल्य क्षेत्रों में जनमत संग्रह करवाया जायेगा|
  3. जनमत सग्रह से पहले सभी राजनितिक दल अपनी विचारधारा का प्रचार प्रसार कर सकते है|
  4. विभाजन की स्थिति में साझे संघ का गठन किया जायेगा जिसमे रक्षा,संचार व विदेश एक साथ रखे जायेगे|
  5. ये सभी प्रावधान अंग्रेजो के जाने के बाद लागु किए जायेगे|
  • कांग्रेश ने इन प्रस्तावों को स्वीकार कर लिया|
  • गाँधी जी ने इसके लिए जिन्ना को मनाने की कोशिश की तथा जिन्ना को कायदे आजम (Great leader) कहा लेकिन स्वीकार नहीं किया|

जिन्ना की मांगे

  • जिन्ना ने साझे संघ को अस्वीकार कर दिया|
  • पूर्वी तथा पश्चिमी पाक को मिलाने के लिए जिन्ना ने गलियारे की मांग की|
  • जनमत संग्रह में केवल मुस्लिम की राय पूछी जानी चाहिए|
  • जनमत संग्रह से पहले केवल मुस्लिम लिंग प्रचार कर सकती हे|
  • जिन्ना ने अंग्रेजो से मांग की बांटो तथा जाओ

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *